अश्वगंधा, बहु उपयोगी आयुर्वेदिक औषध जो स्वास्थ्य को बढ़ती है ।

☘️अश्वगंधा आयुर्वेद की सबसे प्रसिद्ध, शक्तिशाली और उपयोगी जड़ी बूटी है। ☘️अश्वगंधा की जड़ों का उपयोग दवाओं में किया जाता है। ☘️अश्वगंधा के आयुर्वेदिक गुण 👉इसमें कटु, तिक्त और कषाय रस होते है। 👉यह स्निग्धा, लघु (पचने में हल्की) होती है। 👉शक्ति में गर्म ☘️अश्वगंधा के स्वास्थ्य लाभ ✅अश्वगंधा एक रसायन है। यह कायाकल्प करतीContinue reading “अश्वगंधा, बहु उपयोगी आयुर्वेदिक औषध जो स्वास्थ्य को बढ़ती है ।”

अंजीर उच्च रक्तचाप,कब्ज, हृदय रोग और त्वचा के रोगों में है उपयोगी ।

अंजीर 🌻यह वात और पित्त को संतुलित करने वाला फल है। 🌻अंजीर पचाने में भारी और प्रकृति में ठंडा होता है। 👉निम्नलिखित स्थितियों में इसका सेवन करना चाहिए- ✅शरीर में अत्यधिक गर्मी होने पर , मेनोपॉज़ के समय होने वाले हॉट फ्लाशेस से यह राहत देता है। ✅रक्तस्राव विकार, नाक से खून आना, मासिक धर्मContinue reading “अंजीर उच्च रक्तचाप,कब्ज, हृदय रोग और त्वचा के रोगों में है उपयोगी ।”

क्यो होते है चर्म रोग ?इनके होने के कारण जाने और त्वचा के रोगों से बचे।

🌺चर्म रोगों के सामान्य कारण जाने और इनसे बचे। 👉त्वचा हमारे शरीर की रक्षा की पहली पंक्ति है। 😇 👉 सुंदर त्वचा आकर्षक होती है और वही चर्म रोग बहुत गहराई तक मन पर असर करते है। कुछ त्वचा की समस्याओ में शारीरिक रूप से दर्द नहीं भी हो लेकिन वे मानसिक दर्द देती हैं।☹️Continue reading “क्यो होते है चर्म रोग ?इनके होने के कारण जाने और त्वचा के रोगों से बचे।”

द्राक्षा ,आयुर्वेद के अनुसार श्रेष्ट फल ,जाने क्या है इसमें ऐसा खास।

👉बच्चे, जवान हो या बूढ़े सभी को द्राक्षा या किशमिश पसंद होती है। 🍇आयुर्वेद के अनुसार यह सबसे उत्तम फल है। 🍇यह मीठे और छोटे सूखे और सिकुड़े हुए अंगूर होते हैं। 🍇प्राचीन काल से भारतीयों को इसके लाभों के बारे में पता है इसीलिए यह नियमित आहार का हिस्सा हुआ करता था। 🍇इसका उपयोगContinue reading “द्राक्षा ,आयुर्वेद के अनुसार श्रेष्ट फल ,जाने क्या है इसमें ऐसा खास।”

जामुन के स्वास्थ लाभ और इसे खाने का सही समय जाने।

🌷जामुन भारत का मूल निवासी है🇮🇳 वास्तव में जामुन के पेड़ बहुतायत में होने के कारण ही भारत को जम्बूद्वीप के नाम से जाना जाता था।👍🌹🙏🙂 👉यह बेरी अच्छाई से भरपूर है इसके फल, बीज, छाल और पत्ते सभी औषधीय महत्व के हैं। 👉 इसके फल गर्मियों के अंत और मानसून की शुरुआत में उपलब्धContinue reading “जामुन के स्वास्थ लाभ और इसे खाने का सही समय जाने।”

वर्षा ऋतु में कैसा हो आहार और विहार?क्या नही खाए ?जाने और पालन करे वर्षा ऋतुचर्या का और स्वस्थ्य रहे।

🌧️मानसून या वर्षा ऋतुचर्या☔ ☔हर मौसम के साथ पर्यावरण में परिवर्तन होता है और यह हमें भी प्रभावित करता है इसलिए प्रकृति के साथ तालमेल बिठाना और शरीर में दोष का संतुलन बनाए रखने के लिए मौसम के अनुसार भोजन की आदतों और जीवन शैली में बदलाव करना महत्वपूर्ण है।🌷 ☔आयुर्वेद प्रत्येक मौसम के लिएContinue reading “वर्षा ऋतु में कैसा हो आहार और विहार?क्या नही खाए ?जाने और पालन करे वर्षा ऋतुचर्या का और स्वस्थ्य रहे।”

गुड़ क्या रोज खाना अच्छा है? नया या पुराण कोनसा गुड़ अच्छा होता है?

🌻गुड़ का उपयोग आयुर्वेदिक दवाइयों में न केवल इसकी मिठास के लिए बल्कि इसके पोषण मूल्य के लिए भी किया जाता है। 🌻भारत में मेहमानों को ठंडे पानी के साथ गुड़ देने की परंपरा थी क्योंकि यह तुरंत ऊर्जा देता है और व्यक्ति को फिर से जीवंत करता है।🤩 🌻गुड़ गन्ने का रस को पकाContinue reading “गुड़ क्या रोज खाना अच्छा है? नया या पुराण कोनसा गुड़ अच्छा होता है?”

Things you should know about Allergies or hypersensitive immune system.

🌷Immune system is suppose to protect our body by  attacking viruses, bacteria and other pathogens that invades body to harm it but when it loses its intelligence it attack even harmless things. 🌷Things those trigger allergic response called allergens. 🌷Allergens can be some food, medicines, dust, pollens, animal dander, Insect bite, latex and other materials.Continue reading “Things you should know about Allergies or hypersensitive immune system.”

वजन कम करे आयुर्वेदिक आहार ,विहार और औषधियों से।

🌷आयुर्वेद में मोटापे को अतिस्थोल्य की संज्ञा दी गई है। 🌷आयुर्वेद के अनुसार केवल संतुलित स्थिति को ही स्वस्थ माना जाता है, अतिस्थोल्य में वजन (वसा) अधिक होता है यह दोषों (मुख्य रूप से कफ और वात) और धातु (मेद) के असंतुलन की स्थिति है।👍 🌷मोटे व्यक्ति को गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं जैसे मधुमेह, उच्च रक्तचाप,Continue reading “वजन कम करे आयुर्वेदिक आहार ,विहार और औषधियों से।”

Lose weight with Ayurvedic diet, lifestyle and aushadhi.

🌷In ayurveda obesity is termed as atistholya. 🌷As per ayurveda only balanced condition is considered healthy ,atistholya where weight ( fat) is in excess is a state of imbalance dosha(mainly kapha and vata) and dhatu( medo).👍 🌷 Obese person is at risk of developing serious health problems like diabetes, hypertension, joint pain, psychological disorders andContinue reading “Lose weight with Ayurvedic diet, lifestyle and aushadhi.”

क्या आपको पता है पोस्ता दाना या खस खस अच्छी नींद,हड्डियों के लिये और अवसाद की स्थिति में है अत्यंत लाभकारी।

️ ☘️वे अफीम के बीज हैं।☘️️आयुर्वेदिक औषधियों में अफीम राल, बीज और जड़ का प्रयोग किया जाता है।☘️️खसखस खनिज, एंजाइम और फैटी एसिड से भरपूर होता है, इसलिए यह एक प्राकृतिक स्वास्थ्य पूरक है जो सभी आयु समूहों के लिए उपयोगी है।☘️️ यह कैल्शियम, आयरन, पोटेशियम और मैग्नीशियम का बहुत अच्छा स्रोत है। यह कोलेस्ट्रॉलContinue reading “क्या आपको पता है पोस्ता दाना या खस खस अच्छी नींद,हड्डियों के लिये और अवसाद की स्थिति में है अत्यंत लाभकारी।”

घी से बेहतर कुछ नही,यह कोलेस्ट्रॉल और वजन कम करता है,इम्युनिटी बढ़ता,आयु बढ़ता ,दिमाग तेज करता है और भी बहुत है इसके लाभ।

🌷घी को मनुष्यों के लिए सबसे शुद्ध, पवित्र😇, आध्यात्मिक (जैसे कि इसका उपयोग हवन और पूजन में भी किया जाता है) और स्वास्थ्यवर्धक चीज़ों में से एक माना जाता रहा है, लेकिन आजकल घी के बारे में मिथकों और भ्रामक बातों का प्रचार किया जाता है। घी बनाने की विधि🌷घी से फायदे या लाभ केवलContinue reading “घी से बेहतर कुछ नही,यह कोलेस्ट्रॉल और वजन कम करता है,इम्युनिटी बढ़ता,आयु बढ़ता ,दिमाग तेज करता है और भी बहुत है इसके लाभ।”

जाने क्यों रोज के खाने में आलू,टमाटर,शिमला मिर्च,बैगन,प्याज और लहसुन को नही खाना चाहिये।

👉आयुर्वेद में किसी भी पदार्थ के गुण केवल पोषक तत्व के आधार पर ही तय नहीं होते बल्कि उनके रस, गुण, गुण, विपाक और प्रभाव के अनुसार सामग्री का प्रभाव तय किया जाता है। 👉आयुर्वेद में द्रव्य या खाद्य सामग्री को दो श्रेणियों में वर्गीकृत किया गया है जो अहार द्रव्य और औषध द्रव्य। 1.आहारContinue reading “जाने क्यों रोज के खाने में आलू,टमाटर,शिमला मिर्च,बैगन,प्याज और लहसुन को नही खाना चाहिये।”

Do not consume nightshade vegetables like tomatoes, potatoes, capsicum and eggplant and onion, garlic on daily basis.

👉In Ayurveda properties of any material is not solely decided on nutrient content but according to their ras, gun, virya, vipak and prabhav effect of material is decided . 👉In ayurveda dravyas or food material  are classified in two categories which ahar dravya and aushadh dravya. 1.Ahar dravyas – which can be consumed on dailyContinue reading “Do not consume nightshade vegetables like tomatoes, potatoes, capsicum and eggplant and onion, garlic on daily basis.”

%d bloggers like this: