Jujube – fruit of winter!

☘️Ber or jujube fruit is a seasonal fruit of India. ☘️It is easily available in the market during the winter season. It is not an expensive or famous fruit like apple and some people may not have eaten this simple fruit till date, but it is full of good properties. ☘️Shabari had offered the fruitsContinue reading “Jujube – fruit of winter!”

सर्दियो के इस मौसम में बेर के फल जरूर खाए।

☘️बेर  का फल भारत का मौसमी फल है। ☘️सर्दी के मौसम में बेर बाजार में आसानी से मिल जाता है।यह  सेब जैसा महगा या प्रसिद्ध फल नही है और शायद कुछ लोगो ने आजतक इस साधारण फल को खाया भी न हो पर यह गुणों से भरपूर है। ☘️बेर के फल शबरी ने श्री रामContinue reading “सर्दियो के इस मौसम में बेर के फल जरूर खाए।”

जाने सर्दियो में रूखी त्वचा से कैसे बचें।

सर्दी एक ऐसा समय है जब त्वचा शुष्क, सुस्त, फटी और खुरदरी हो जाती है लेकिन त्वचा को पोषण देने का यह सबसे अच्छा अवसर है क्योंकि सर्दियों में त्वचा अधिक ग्रहणशील होती है। सर्दियो में ️शुष्क और ठंडी हवा  से वात दोष बढ़ जाता है जिससे त्वचा रूखी हो जाती है। ️त्वचा आंतरिक स्वास्थ्यContinue reading “जाने सर्दियो में रूखी त्वचा से कैसे बचें।”

Tips to prevent dry skin during the winter.

❄️Winter is a time when skin gets dry,dull, chapped and rough but it best opportunity also to nourish skin as skin is more receptive in winter. ❄️Due to dry,cold and windy weather vata dosha increases which causes skin dryness ,by following vata pacifying diet and lifestyle one can prevent skin from winter damage. ❄️Skin reflectContinue reading “Tips to prevent dry skin during the winter.”

Cracked heel – it’s causes and some home remedies.

☘️Cracked heel is mentioned as padadari( pada – foot, dari – cracked) in ayurveda although it is a harmless problem but if neglected can become painful. ☘️It starts as cosmetic problem but when cracks become deep it even bleed and become extremely painful. ☘️It is a Vata imbalance problem because Vata imbalance leads to dryness inContinue reading “Cracked heel – it’s causes and some home remedies.”

एड़ी फटने के कारण और इसको ठीक करने के उपाय।

☘️फटी एड़ी का उल्लेख आयुर्वेद में पाददरी (पाद-पैर, दरी-फटना) के रूप में किया गया है, हालांकि यह एक गंभीर समस्या नही है लेकिन अगर इसे अनदेखा किया जाए तो यह तकलीफदायक हो सकती है। ☘️यह कॉस्मेटिक समस्या के रूप में शुरू होता है लेकिन जब दरारें गहरी हो जाती हैं तो इससे खून भी बहताContinue reading “एड़ी फटने के कारण और इसको ठीक करने के उपाय।”

डेंड्रफ के कारण और कुछ कारगर उपाय

🌻डैंड्रफ की समस्या बहुत आम है यह एक ऐसी स्थिति है जहां सिर से मृत त्वचा के सफेद, सूखे गुच्छे निकलते  हैं। 🌼बहुत सारे शैंपू आजमाने के बाद भी वह वापस आ जाता है। 🌼सामान्य तौर पर सिर की मृत त्वचा, नई त्वचा के प्रतिस्थापन होती रहती है लेकिन इसका पता  नहीं हालत है वहीContinue reading “डेंड्रफ के कारण और कुछ कारगर उपाय”

Dandruff – it’s causes and some effective remedies.

🌼Dandruff is very common of problem of scalp it is a condition where white,dry flakes of dead skin sheds from scalp. 🌼 Even after trying many shampoos it returns. 🌼Normally also dead skin of scalp shed with replacement of new skin but it is almost unnoticeable process but in dandruff shredding become faster. 🌼 InContinue reading “Dandruff – it’s causes and some effective remedies.”

Urticaria – it’s causes, Ayurvedic treatment and few effective home remedies.

Urticaria or hives ☘️It is a condition where rashes appears on skin of particular body part or all over body which can last for few hours, few weeks to sometimes a whole year. ☘️It is not life threatening condition but it should not be ignored and it should be treated  at earliest. ☘️As per modernContinue reading “Urticaria – it’s causes, Ayurvedic treatment and few effective home remedies.”

पित्ती या अर्टिकारिया के कारण ,इसका आयुर्वेदिक इलाज और कुछ घरेलू उपाए।

अर्टिकारिया या पित्ती(urticaria) ☘️यह एक ऐसी स्थिति है जहां शरीर के विशेष भाग या पूरे शरीर की त्वचा पर चकत्ते दिखाई देते हैं जो कुछ घंटों, कुछ हफ्तों से लेकर कभी-कभी पूरे वर्ष तक रह सकते हैं। ☘️यह जीवन के लिए खतरा नहीं है लेकिन इसे नज़रअंदाज नहीं करना चाहिए और इसका इलाज जल्द सेContinue reading “पित्ती या अर्टिकारिया के कारण ,इसका आयुर्वेदिक इलाज और कुछ घरेलू उपाए।”

कुल्थी दाल सप्ताह में एक या दो बार खाए और कई स्वास्थ्य समस्याओं से बचे ।

कुल्थी दाल या हॉर्स ग्रामआयुर्वेद में इसका उपयोग कई स्थितियों में आंतरिक और बाह्य दोनों तरह से किया जाता है।यह स्वाद में कसैला, पचने में हलकी, गर्म और भेदी प्रकृति की होती है। वात और कफ दोष को संतुलित करती है।उपयोगयह विशेष रूप से गुर्दे की पथरी पर कार्य करती है, गुर्दे से पथरी कोContinue reading “कुल्थी दाल सप्ताह में एक या दो बार खाए और कई स्वास्थ्य समस्याओं से बचे ।”

HORSE GRAM , have it once or twice in a week to prevent and cure many health problems!

Kulathi dal or horse grams It is used in ayurveda in many conditions both internally and externally. 🌷 It is astringent in taste , light to digest , hot and piercing in nature. Balance vata and kapha dosha. Uses 👉 It specially acts on kidney stones,helps in removing stones from kidney and prevent their formation.Continue reading “HORSE GRAM , have it once or twice in a week to prevent and cure many health problems!”

बाजरा – सर्दियो में जरूर खाए।

🌷भारत के कई हिस्सों में विशेष रूप से राजस्थान और गुजरात में बहुत पुराने समय से बाजरे का उपयोग किया जा रहा है। लेकिन अब इसके लाभों के बारे में जागरूकता की कमी होने के कारण शहरी आबादी ने इसके बारे या तो सुना ही नहीं है या कभी इसका स्वाद नहीं लिया। 🌷बाजरा उगानाContinue reading “बाजरा – सर्दियो में जरूर खाए।”

Health benefits of Bajra and know how to use it.

🌷Bajra is used from very old time in many part of India specially in Rajasthan and Gujarat but now due to lack of awareness about its benefits urban population not heard or tasted it. 🌷This easy to grow Millet is full of nutrients , provide feeling of fullness and instant energy for hard physical work,Continue reading “Health benefits of Bajra and know how to use it.”

हरि मटर के स्वास्थ्य लाभ जाने।

☘️हरी मटर☘️ ️ 👉हरे मटर स्वादिष्ट और पोषक तत्वों से भरपूर सब्जी है। 👉️हरी मटर प्रोटीन और फाइबर से भरपूर होती है। ️ 👉इनका उपयोग कुछ आयुर्वेदिक तेल और दवाओं को तैयार करने में किया जाता है। 🌱हरी मटर के गुण 🌻स्वाद में मीठा।🌻रूक्ष, पचने में हल्की और ठंडी है।🌻यह वात दोष को बढ़ाता है,Continue reading “हरि मटर के स्वास्थ्य लाभ जाने।”